English
Urdu

female sex problem

तनाव आजकल की जिंदगी का अहम हिस्‍सा है। और इसी तनाव से कई बीमारियों के साथ-साथ सेक्‍स समस्‍याएं भी दी हैं। महिलाओं में भी इस तरह की परेशानियां बढ़ती जा रही हैं। महिलाओं के बीच हुए सर्वे में 43% महिलाओं में कोई न कोई लैंगिक विकार पाया गया।

हार्मोंस में बदलाव

माहवारी शुरू होने के बाद महिलाओं में हार्मांस परिवर्तन होने लगता है। इस बदलाव के कारण उनमें शारीरिक रूप से कुछ न कुछ परिवर्तन आते रहते है। ये परिवर्तन उस समय और बढ़ जाती हैं, जब महिलाएं सेक्स करती हैं या फिर सेक्स करने से पहले गर्भधारण से बचने के लिये गर्भनिरोधक गोलियों का नियमित सेवन करती है।

ल्यूकोरिया की समस्या

योनि से सफेद, चिपचिपा गाढ़े पानी का स्राव होना आज युवावस्था की महिलाओं के लिए आम समस्या हो गई है। सामान्य भाषा में इसे सफेद पानी यानी ल्यूकोरिया कहा जाता है।

योनि में खुजली

कई कारणों से महिलाओं को योनि में खुजली होने लगती है। इसके कई कारण है, जैसे- इन्फेक्शन होना, ठीक से सफाई न होना, फिरंग, रोजाना कब्ज रहना और संभोग करने वाले व्यक्ति के यौनांगों में इन्फेक्शन होना, रक्त विकार इत्यादि इसके प्रमुख कारण हैं।

गर्भाशय संबंधी बीमारियां

कई बार प्यूबिक हेयर्स की ठीक से सफाई न करने के कारण उनमें स्थित कीटाणु योनि मार्ग में प्रविष्ट होकर कई योनि गर्भाशय संबंधी समस्याओं को उत्पन्न करते हैं। यौनांगों की इसीलिए ठीक तरह से सफाई होना बेहद आवश्यक है।

सेक्स के प्रति विमुख होना

स्त्रियों को सबसे अधिक शिकायत यौनेच्छा की कमी होती है। कई महिलाओं की सेक्स करने में बिल्कुल भी रूचि नहीं होती। यानी उनकी सेक्स भावना बिल्कुल खत्म हो चुकी होती है। जो कि एक गंभीर सेक्स समस्या होती है। कई बार ये स्थिति मेनोपोज के बाद आती है तो कई महिलाओं में मेनोपोज से पहले ही महिलाओं मे सेक्स के प्रति अनिच्छा हो जाती है।