English
Urdu

गुस्से पर कंट्रोल करने और मन शांत करने के आसान उपाय

  • 1
  • Feb
  • 0
Author

गुस्से पर कंट्रोल करने और मन शांत करने के आसान उपाय

जैसा कि हम सभी जानते है कि मनुष्य का सबसे बड़ा दुश्मन क्रोध है, जिसका जन्म अहंकार से होता है। क्रोध में की गई गलती का अंत पश्चाताप पर होता है। अक्सर बुरे और गलत काम गुस्से मे ही होते है। गुस्से मे हम वो कर जाते है जिसकी हमें उम्मीद भी नहीं होती है। […]
  • 31
  • Jan
  • 0
Author

जानिए क्यों शादीशुदा महिलाएं बनाती हैं अवैध संबंध

आज के इस युग में पुरूष एवं महिलाओं के अवैध संबंध की न्यूज़ सुनने को अधिक मिल रही है। वैवाहिक जीवन में प्यार के साथ-साथ शारीरिक संबंधों की जरूरत मर्द और औरत दोनों को ही होती है। कहा जाये तो जहां पुरूष शारीरिक संबंध से जुड़ी किसी भी बात को दूसरों के साथ बड़ी आसानी […]
  • 16
  • Jan
  • 0
Author

सेक्स का हमारे जीवन में क्या महत्व है?

कुदरत की तरफ से प्यार शायद दुनिया के सभी प्राणियों को दिया गया सबसे बेहतरीन तोहफा है। सेक्स में प्यार की अहम भूमिका है। वहीं पति-पत्नी के संबंधों में सेक्स का अपना ही एक अलग मज़ा है। बल्कि कहा जाये तो पति-पत्नी के वैवाहिक जीवन में सेक्स का अलग ही महत्व होता है। इससे पति-पत्नी […]
  • 3
  • Aug
  • 0
Author

हाशमी दवाखाना

शरीर की अन्य समस्याओं की तरह यौन संबंधी समस्याएं भी आम हैं। इन्हें छिपाने के बजाय इनका समाधान ढूंढ़ना चाहिए। किसी व्यक्ति के जीवन में यौन समस्याएं उसके असुखद व असंतोषजनक यौन अनुभव होने के बाद भी हो सकती हैं। सामान्यत: जो पुरुषों में किसी भी तरह की मर्दाना कमजोरी नहीं हैं, उनका दांपत्य और […]
  • 19
  • May
  • 0
मानसिक रोगी, स्वस्थ पुरुष, सेक्स में कमजोरी के कारण, मायूसी कमजोरी और निराशा, गुप्तरोग
Author

Hashmi Dawakhana in Hindi

कई नवयुवक मानसिक रोगी होते हैं, वास्तव में उन्हें बीमारी नहीं होती है चालाक और बाजारी हकीम इनकी कमजोरी से लाभ उठाकर इनके सन्देह को बढ़ाते हैं और स्वस्थ पुरुष को रोगी बना देते हैं। ऐसे नवयुवक अपनी अज्ञानता के कारण कभी कभी आत्महत्या कर लेते हैं। क्योंकि वे समझते हैं कि उनका जीवन अब […]
  • 1
  • Nov
  • 4
Author

स्वास्थ्य सम्बंधित पुस्तक

कई नवयुवक मानसिक रोगी होते हैं, वास्तव में उन्हें बीमारी नहीं होती है चालाक और बाजारी हकीम इनकी कमजोरी से लाभ उठाकर इनके सन्देह को बढ़ाते हैं और स्वस्थ पुरुष को रोगी बना देते हैं। ऐसे नवयुवक अपनी अज्ञानता के कारण कभी कभी आत्महत्या कर लेते हैं। क्योंकि वे समझते हैं कि उनका जीवन अब […]
  • 1
  • Oct
  • 0
Author

गर्मी (आतशक)

यह रोग भी सुजाक की तरह अत्यन्त भयानक रोगों में से एक है। यह भी बाजारू औरतों के संसर्ग से होता है। इस रोग में सम्भोग के कुछ दिन बाद इन्द्री पर एक मसूर के दाने की तरह फुन्सी होती है जो जल्दी ही फैलकर जख्म बन जाता है। आतशक ो प्रकार का होता है। […]