English
Urdu

Constipation

कब्ज की मुख्य वजह है हमारी जीवनशेली. हम क्या और कितना खाते पीते है और दिन में कितना व्यायाम करते है ,हमारी पेट में होने वाली समस्याओ को तय करता है. हालाकि कई लोगो को बचपन से कब्ज की समस्या रहती है लेकिन एक सही जीवनशेली अपनाकर इसे भी ठीक किया जा सकता है. कब्ज की मुख्य वजह है

  • हमारे शरीर में पानी की कमी होना
  • खाने में फाइबर युक्त पदार्थ (fiber rich food) जैसे पत्ता गोभी, पालक, Beans, की कमी होना
  • आलस, कम चलना या ज्यादा बैठे बैठे काम करना, शारीरिक काम और मेहनत न करना
  • ज्यादा सोना या बहुत कम सोना
  • ज्यादा चाय, कॉफी, नशा और धूम्रपान करना
  • सही टाइम पर भोजन न खाना
  • भूख न होने के बावजूद जबरदस्ती भोजन करना
  • जंक फ़ूड या फ़ास्ट फ़ूड ज्यादा खाना
  • थाइरोइड हॉर्मोन का कम निकलना
  • पार्किन्सन डिज़ीज और डायबिटीज
  • प्रेगनेंसी
  • डिप्रेशन, चिंता और तनाव का होना
  • ज्यादा दवाइयों का सेवन करना

ज्यादा पानी पिये – drink enough water

शरीर में पानी की कमी कब्ज का मुख्य कारण है. इसलिए दिन में कम से कम 2 से 3 लीटर पानी (10- 12 गिलास) जरुर पिए. इससे आपकी पाचन क्रिया में सुधार होगा और पेट सबंधी सभी बिमारियों से मुक्ति मिलेगी. खाना खाने से पहले, खाना खाते समय या खाने के तुरंत बाद पानी न पिए.

खानपान – food

अगर आपको काफी समय से Constipation है तो जितना हो सके उतना कम तला हुआ खाना और बाहर का खाना ना खाए. साथ ही अपने खाने में हरी सब्जियां, बीन्स, दाले, पत्तागोभी, मटर, ब्रोकल्ली, फल विशेषकर अमरुद और पपीते को शामिल करे. टमाटर को सलाद के तौर पर ज्यादा इस्तेमाल करे. साथ ही समय पर खाना खाए और जितनी भूख हे सिर्फ उतना ही खाए

ईसबगोल – Isabgol

ईसबगोल को संस्कृत में ‘स्निग्धबीजम्’ भी कहा जाता है. यह कब्ज और दस्त दोनों में लाभकारी है. रात को 2 छोटे चमच ईसबगोल पानी या दूध में भिगोये और चीनी डाल कर पीने से कब्ज की समस्या दूर होती है.

Exercise – व्यायाम

सुबह उठकर थोडा व्यायाम पेट के साथ साथ शरीर के लिए भी लाभदायक हे. Exercise के तौर पर आप running, साइकिलिंग, स्विमिंग कर सकते है. अगर समय नहीं मिलता तो छोटी छोटी बातो का ध्यान रखे जैसे लिफ्ट की बजाये सीढियों का इस्तेमाल, पैदल चलना आदि करे.

अलसी के बीज – Flaxseeds

अलसी के बीजो में औषधीय रूप से गुणकारी माने जाते है. अलसी के बीजो को पीसकर रात में एक चम्मच चूर्ण को पानी के साथ खाने से कब्ज से राहत मिलती है.

त्रिफला चूर्ण – triphala churna

कब्ज को दूर करने के लिए त्रिफला चूर्ण सबसे उत्तम माना जाता है. यह एक आयुर्वेदिक मिक्षण है जो आंवला, हरड़ और बहेडा के बीजो से बना है. इसलिए इसे त्रिफला यानी तीन फल कहा जाता है. रात में एक छोटा चम्मच त्रिफला चूर्ण गर्म पानी या दूध के साथ खाने से कब्ज दूर होती है.

मुनक्का – munakka

मुनक्का पेट के लिए लाभकारी माना जाता है. रात को पानी में मुनक्का भिगो कर रखे और सुबह उसे खा ले. साथ में उसका पानी भी पी ले. कब्ज से राहत मिलेगी