English
Urdu

green coffee is the new fat buster

आजकल हर चीज़ में हमें वेरायटी मिलती है। जिसमें से हम अपनी मर्जी से जो ठीक लगे इस्तेमाल करते हैं। अब रिफ्रेशिंग माने जाने वाले चाय कॉफ़ी की ही बात करें तो पहले सिर्फ ये दो थे चाय और कॉफ़ी पर समय के साथ इनमें वेरायटी आ गई कभी स्वाद के बेस पर तो कभी हेल्थ बेनिफिट्स के बेस पर। और सबसे कमाल की बात तो ये है कि इनमें से कुछ ऐसे हैं जो हेल्दी भी होते हैं और टेस्टी भी जैसे ग्रीन कॉफी। जी कंफ्यूज ना हो हम ग्रीन कॉफ़ी की ही बात कर रहे हैं। अब तक हमने जाना है कि ग्रीन टी के कई फायदे हैं जैसेकैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से लड़ना तथा मोटापा कम करना आदि । ग्रीन टी से आप तरोताजा और हेल्दी रह सकते हैं। लेकिन क्या आप ग्रीन कॉफी के फायदों के बारे में जानते हैं। नहीं ना? तो आइए तो हम बात करेंगे ग्रीन कॉफ़ी की और उससे होने वाले हेल्थ बेनिफिट्स की।

एक्चुअल में ग्रीन कॉफी नार्मल कॉफी कॉफी का एक नेचुरल रूप है। ग्रीन कॉफी के बीन्स कच्चे होते है क्यूंकि इन्हें भूना नहीं जाता। कॉफी बीन्स भुनने से कॉफी की खुशबु और इसका टेस्ट अच्छा हो जाता है, इसलिए हर रोज पी जाने वाली कॉफी भुने हुए बीन्स की बनती है और इसी वजह से जो लोग हर रोज नॉर्मल कॉफी का सेवन करते है उन्हें कॉफ़ी से होने वाले हेल्थ बएनेफिट्स पाने में आसानी से कामयाबी नहीं मिलती।

रिसर्च के अनुसार निम्नलिखित रोगों या शारीरिक समस्याओं को नियंत्रित करने के लिए ग्रीन कॉफी बहुत फायदेमंद होती है, ग्रीन काफी से होने वाले फायदे कुछ इस प्रकार हैं।

ग्रीन कॉफ़ी के फायदे

1. ओआरएसी बढाए
ओआरएसी यानि ऑक्सीजन रेडिकल एबजॉरबेंस केपेसिटी ये एक तरीका होता है जिससे एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा की जांच की जाती है। जब ग्रीन कॉफी की बीन्स की जांच की गई तो पाया गया कि इसमें एंटीऑक्सीडेंट अधिक मात्रा में है।

2. वेट लॉस में मददगार
ग्रीन कॉफी में मौजूद घटक के शरीर में होने से वजन को कम करने में मदद मिलती है। इसके होने से सभी तत्वों को हमारा शरीर आसानी से अवशोषित करने में सक्षम होता है। ऐसा माना जाता है कि ग्रीन कॉफी में उपस्थित तत्व भूख को कम करने में भी मदद करते हैं। अच्छे परिणाम के लिए भोजन के 30 मिनट पहले ग्रीन कॉफी का सेवन करें।

3. ब्लड शुगर कंट्रोल करे
डायबिटीज़ के मरीजों के लिए ग्रीन कॉफी को एक बहुत ही फायदेमंद ड्रिंक माना गया है, इसका नियमित रूप से किया गया सेवन शरीर के ब्लड शुगर लेवल को सामान्य बनाए रखता है।

4. हार्ट के लिए बेनिफिशियल
ग्रीन कॉफी में मौजूद जो क्लोरोजेनिक एसिड  दिल के लिए फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स रक्त नलिकाओं को फैलने में मदद करते हैं और इससे प्राकृतिक तरीके से रक्तचाप कम होता है। रक्तचाप कम होने पर हृदय की सेहत पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है जिसके कारण हृदय लंबे समय तक सेहतमंद बना रहता है।

5. मूड बनाए बेहतर
ग्रीन कॉफी का सीधा असर आपकी मनोदशा पर पड़ता है। यह हमारे दिमाग पर असर डालती है और हमारे मूड को बेहतर करने का प्रयास करती है। साथ यह नींद या आलस के एहसास को दूर करके लंबे समय तक एक्टिव बनाए रखती है।

6. सिरदर्द में दे राहत
ग्रीन कॉफी सिर दर्द को ठीक करने के लिए बेहतर उपाय है। इसमें मौजूद कैफीन सिर के दर्द को तेजी से कम करने के साथ दूर करने में असरकारक होते है।

7. कैंसर में कारगर
ग्रीन कॉफी में उपस्थित तत्व ट्यूमर आदि रोगों के निर्माण को रोकता है, इसकी मदद से कैंसर जैसी बिमारी को नियंत्रण में रखकर उसकी वृद्धि को भी रोका जा सकता है। यह शरीर में होने वाले चार तरह के कैंसर को रोकने में शरीर की मदद करता है। इसलिए इसे अपनी दिनचर्या में नियमित रूप से शामिल कर आप कैंसर जैसी प्राणघातक बिमारी से बच सकते हैं।

8. डिमेन्शया से राहत
क्लोरोजेनिक एसिड दिमागी सेहत के लिए बहुत प्रभावी है, यह संज्ञानात्मक क्रियाओं को बेहतर करने के साथ साथ मानसिक समस्याओं को भी ठीक करने में सहायक होता है। बढ़ती उम्र के साथ साथ डिमेन्शिया या मतिभ्रम कि स्थिति में भी इसका सेवन बहुत लाभदायक समझा जाता है। साथ ही इसमें उपस्थित घटक दिमागी क्षमताओं को पहले से ज़्यादा बेहतर प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित करते हैं। यह निर्णय लेने की क्षमता, बेहतर याददाश्त आदि के लिए भी सहायक माना जाता है।

9. बढ़ती उम्र छिपाए
ग्रीन कॉफी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट त्वचा पर पड़ने वाले उम्र के निशानों को कम करता है। बढ़ती उम्र की वजह से हमारी त्वचा में कई तरह के दाग धब्बे या महीन लकीरें साफ दिखाई देने लगती है। एंटीऑक्सीडेंट तत्व इन सभी निशानों को कम करने में मदद करता है और त्वचा को एक नया जीवन देते हैं। इसके नियमित सेवन से झाइयाँ, पतली रेखाएँ, डार्क सर्कल्स आदि जल्दी ही दूर होने लगते हैं।