• 2
  • Mar
  • 0
Author

फास्टफूड (जंक फूड) खाने से सेहत को होते यह नुकसान

अच्छा और स्वस्थ जीवन जीने के लिए सबसे पहले हमारे स्वास्थ्य का अच्छा होना बहुत महत्वपूर्ण होता है जिसके लिए हमें स्वस्थ खान-पान को अपनाने की जरूरत होती है, लेकिन आज की बदलती जीवनशैली के चलते लोग पोष्टिक आहार लेने की बजाए जंक फूड या फास्ट फूड खाना ज्यादा पसंद करते हैं। हालांकि जो चीज खाने में काफी स्वादिष्ट होती है, वहीं हमारी सेहत के लिए उतनी ही नुकसानदायक भी होती है। जंक फूड दिखने में बेशक कितने ही आकर्षक और स्वादिष्ट लगते हो लेकिन वास्तव में यह स्वास्थ्य संबंधी समस्याऐं पैदा करते हैं। तो चलिए जानते हैं कि फास्ट फूड का हमारे शरीर पर कैसे बुरा प्रभाव पड़ता है।

पाचन शक्ति पर असर :

अधिक मात्रा में जंक फूड का सेवन पाचन क्रिया पर बुरा प्रभाव डालता है। जिससे आप कुछ भी खायेंगे तो वह आपको डाइजेस्ट नहीं होगा और अगर खाना पचेगा नहीं तो बीमारियांं का होना संभव सी बात है।

मोटापे की समस्या :

किसी भी प्रकार के जंक फूड में अधिक मात्रा में कैलरीज होती है और यही कैलोरी हमारे शरीर में बहुत तेजी से चर्बी बढ़ाती है जिससे हमारे वज़न में वृद्धि होने लगती है।

डायबिटीज :

एक सर्वे के मुताबिक यह पाया गया है कि जंक फूड के सेवन से बच्चों के साथ-साथ युवाओं और बुजुर्गों को भी डायबिटीज की बीमारी हो सकती है।

दिल संबंधी बीमारियां :

अधिक फास्ट फूड के सेवन से शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ जाता है। जिस वजह से दिल संबंधी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इसके साथ ही शरीर का वज़न बढ़ने लगेगा और जितना आपका वजन बढ़ेगा, उतना ही हार्ट अटैक की समस्या बढ़ेगी।

मानसिक स्वास्थ्य पर असर :

जंक फूड खाने से हमारे मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। इससे हार्मोन्स का बैलेंस बिगड़ने लगता है और हमारे सोचने समझने की क्षमता क्षीण हो जाती है क्योंकि सभी तरह के फास्ट फूड चीनी और वसा से युक्त होते है जो हमारे दिमाग के पेप्टाइड की गतिविधियों को कम करते हैं।

किडनी पर असर :

फास्ट फूड में बहुत ज्यादा नमक पाये जाने के कारण यह किडनी को नुकसान पहुंचा सकते हैं। फैट और नमक के बढ़ते लेवल से ब्लड प्रेशर की समस्या बढ़ जाती है। जिसका सीधा असर किडनी पर पड़ता है।

थकान महसूस होना :

फास्ट फूड हमारे मुंह का जायका बढ़ाने व पेट की भरपाई तो कर देता है लेकिन शरीर को पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन, विटामिन आदि नहीं मिल पाते हैं जो अच्छी सेहत के लिए बहुत आवश्यक होते हैं। इसी कारण से शरीर में थकान की समस्या होने लगती है।

उच्च रक्तचाप :

सोडियम की सही मात्रा जितनी शरीर के लिए लाभदायक है उतनी ही ज्यादा मात्रा में उच्च रक्तचाप को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार है। बहुत से लोगों को यह पता नहीं होता है कि उनके भोजन में सोडियम की कितनी मात्रा है और इस तरह कम ज्यादा खाने से हृदय प्रणाली और ब्लड प्रेशर को कितना नुकसान पहुंच सकता है।

सिरदर्द का रहना :

बहुत से जंक फूड आसानी से नहीं पचते हैं जिस कारण पेट में गैस बनने से भी सिर दर्द जैसी समस्या पैदा होने लगती हैं।

प्रजनन क्षमता पर असर :

क्या आप जानते हैं कि जंक फूड का हमारी प्रजनन क्षमता पर गहरा असर पड़ता है। इसका अधिक मात्रा में सेवन शरीर में हार्मोन के कार्यों को बाधित कर सकता है।

दांतों के लिए नुकसानदायक :

जंक या फास्ट फूड स्वाद में अच्छे तो होते हैं लेकिन इनसे दांतो से जुड़ी समस्यायें पैदा होती है। इससे न सिर्फ दांतों पर असर पड़ता है बल्कि जीभ व मसूड़ों को भी हानि पहुंचती है।

कैंसर की संभावना :

शुगर और फैट से भरपूर जंक फूड पेट से संबंधित कैंसर कोलोन कैंसर का खतरा बढने की संभावना बढ़ जाती है। अन्य शोध के अनुसार इससे प्रोटेस्ट कैंसर का खतरा भी बढ जाता है।

कोलेस्ट्रोल का खतरा :

फ्राइड खाद्य पदार्थ ट्रांस वसा से भरे होते हैं। जो एलडीएल यानी खराब कोलेस्ट्रोल को बढ़ाकर हमारे शरीर को नुकसान देती है। ट्रांस फैट दिल से संबंधित बीमारियां जैसे स्ट्रोक, हार्ट अटैक को न्योता देने के लिए फास्ट फूड खाने की आदत एक मुख्य कारण बन सकती है। जैसे-जैसे एचडीएल कोलेस्ट्रॉल में कमी आने लगती है उतना ही वजन में वृद्धि होने लगती है जिस कारण हार्ट अटैक जैसे जोखिम में वृद्धि हो सकती है।

इसके अतिरिक्त जंक फूड या फास्ट फूड लेने से सांस लेने की समस्या, शरीर की हड्डियां कमजोर पड़ना व त्वचा संबंधी रोगों से भी जूझना पड़ सकता है।

अब तो आप जान ही गये होंगे कि फास्ट फूड आपके स्वास्थ्य को कैसे प्रभावित करता है। इसीलिए अच्छे स्वास्थ्य के लिए फास्ट फूड के सेवन से बचेंं और पोषक तत्वों से युक्त पदार्थो का सेवन करें। आप अपने आहार में ताजे फल और हरी सब्जियां शामिल करें।

Avatar
admin

Leave a Comment

You must be logged in to post a comment.