• 26
  • Apr
  • 0
Author

हाई कोलेस्टॉल है आपके स्वास्थ्य के लिए खतरे की घंटी

कोलेस्ट्रॉल आपके शरीर और सेहत, दोनों के लिए नुकसानदायक है। शरीर में कोलेट्रॉल का स्तर बढ़ने पर एक साथ कई समस्याएं भी पैदा हो सकती हैं जो आपके लिए बेहद खतरनाक साबित होती हैं। कोलेस्ट्रॉल एक वसा है, जो लिवर द्वारा उत्पन्न होती है। यह शरीर के सुचारु रूप से कार्य करने के लिए जरूरी है। हमारे शरीर की प्रत्येक कोशिका को जीवित रहने के लिए कोलेस्ट्रॉल की आवश्यकता होती है। कोलेस्ट्रॉल मोम जैसा चिकना पदार्थ है, जो ब्लड प्लाज्मा द्वारा शरीर के विभिन्न हिस्सों में पहुंचता है। आज की इस भागदौड़ भरी जिन्दगी के चलते कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित रखना बहुत कठिन बात है। वहीं कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित न होने पर इससे कई तरह की बीमारियों के होने की आशंका बनी रहती है। जिस वजह से स्वास्थ्य संबंधी दिक्कते होना शुरू हो जाती हैं। इसके लिए सबसे आवश्यक है कि बड़े हुये कोलेस्ट्रॉल को कट्रोंल में रखें।
वैसे एक्सपट्स के मुताबिक डायट व एक्सरसाइज के माध्यम से बहुत हद तक जीत हासिल की जा सकती है। यदि हाई कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित नहीं है तो इसकी वजह से अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल आपकी धमनियों में जमा होने लगता है जिस कारण ब्लॉकेज बनने की समस्या उत्पन्न हो जाती है। इससे न केवल सामान्य रक्त संचार में बाधा आती है बल्कि यह मष्तिष्क, आंखों, दिल, किडनी और शरीर के निचले हिस्से के अंगों की कार्यप्रणाली में में बाधा उत्पन्न करता है। यदि ब्लॉकेज 70 फीसदी से अधिक है तो यह हाई कोलेस्ट्रॉल के लक्षण में मानी जाने वाली दिक्कते सामने आने लगेंगी।

दिल का दौरा का खतराः हाई कोलेस्ट्रॉल भी दिल का दौरा पड़ने के मुख्य कारणों में से एक है जिसके नुकसान से बचना काफी मुश्किल काम है। दिल से शरीर के दूसरे हिस्सों में रक्त पहुंचानेवाली हमारी धमनियों और रक्त वाहिनियों में कोलेस्ट्रॉल जमा हो जाता है। वक्त के साथ धीरे-धीरे यह रक्त के संचार को प्रभावित कर दिल पर दबाव बनाता है जिस वजह से दिल का दौरा पड़ जाता है।
अंधापन की समस्या : कोलेस्ट्रॉल का रक्त वाहिनियों में अधिक मात्रा में जमा हो जाने से आंखों की तरफ खून की सप्लाई या रक्त संचार बंद होने की संभावना बढ़ जाती है। जिसके परिणामस्वरूप आंखों की ज्योति पूरी तरह से चली जाने का खतरा रहता है। ऐसी स्थिति से बचने के लिए जितना हो सके कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल में करने का प्रयास करें।
ब्रेन स्ट्रोक का संकट : शरीर में बहुत अधिक कोलेस्ट्रॉल न केवल आपके दिमाग में खून के बहाव को प्रभावित करता है बल्कि ब्रेन स्ट्रोक का कारण भी बनता है। ऐसा इसलिए क्योंकि, दिमाग की रक्त धमनियों में कोलेस्ट्रॉल का अधिक जमने की वजह भी होता है।
किडनी फेल होने का खतरा : हाई कोलेस्ट्रॉल शरीर के लगभग हर हिस्से को ही प्रभावित नहीं करता है। बल्कि इससे किडनी की समस्याओं में भी इजाफा हो सकता है, क्योंकि इसका प्रभाव रेनल धमनियों पर भी पड़ता है। जिसकी वजह से किडनी की तरफ रक्त का संचार रुक जाता है और किडनियां कार्य करना बंद कर देती हैं।

Avatar
admin

Leave a Comment

You must be logged in to post a comment.