• 8
  • Apr
  • 0
Author

स्पर्म बेहतर चाहिए तो ये काम न करें

दुनिया भर के कई देशों में पुरुषों के शुक्राणुओं की संख्या में आ रही गिरावट डॉक्टरों की चिंता का कारण बना हुआ है। पुरुषों में तो पिछले 40 सालों से कम वक़्त के दौरान स्पर्म काउंट आधा हो गया है। कहने का तात्पर्य शुक्राणुओं की संख्या में गिरावट का सीधा संबंध प्रजनन क्षमता से है। वास्तव में आपका स्पर्म कैसा होगा, यह कई चीजों पर निर्भर करता है. मसलन, आपका स्पर्म काउंट यानी शुक्राणु की संख्या कितनी है इसका संबंध खान-पान से भी है। आप जो खाते हैं उसी से शरीर की सारी गतिविधियां निर्धारित होती हैं।

वसा की मात्रा यदि आपके खाने में ज्यादा है तो स्पर्म काउंट में निश्चित रूप से कमी आ जाती है। शोध में यह पाया गया है कि जो लोग जंक फूड ज़्यादा खाते हैं उनके शुक्राणु की क्वालिटी बहुत कमज़ोर थी। वहीं जिनमें शुक्राणु की गुणवत्ता बेहतरीन होती है उनके शरीर में ओमेगा-3 फैटी एसिड की मात्रा पर्याप्त होती है और यह एसिड मछली व वनस्पतियों के तेल में पाया जाता है।

किये गये शोधों में ये बात सामने आई है कि जो ज़्यादा वसा खाते हैं उनका स्पर्म काउंट 43 फ़ीसदी कम होता है और शुक्राणु की सघनता भी कम होती है वहीं जो लोग ओमेगा-3 फैटी एसिड पर्याप्त मात्रा में लेते हैं उनके स्पर्म की क्वालिटी बेहतर रहती है। कई विशेषज्ञों का तो यह मानना है कि अगर स्पर्म काउंट में गिरावट नहीं रूकी तो व्यक्ति एक दुर्लभ प्रजाति की सूची में शामिल हो सकता है।

पांच करोड़ से 15 करोड़ तक शुक्राणु की संख्या जब एक पुरुष के वीर्य में होती है तो वो महिलाओं के फलोपीअन ट्यूब में तत्काल तैरने लगते हैं हालांकि यह सब इतना सरल नहीं होता है। महिलाओं के अंडाणु के लिए कई बार एक ही स्पर्म काफी होता है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार प्रति मिलीलीटर वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या 1.5 से 3.9 करोड़ हो तो उसे सामान्य माना जाता है इसलिए स्पर्म काउंट दुरुस्त रखना है तो इन बातों से जरूर बचें-

  • अपने वज़न को नियंत्रित रखे व फिट अपनी फिटनेस बनाये रखे।
  • ज्यादा टाइट अंडरवेयर न पहने और नहाने के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल न करें।
  • यौन संक्रमण से सावधानी बरतें।
  • सात से आठ घंटे नींद लेना जरूर लें। यदि आप पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं तो इससे आपकी प्रजनन क्षमता पर बुरा असर पड़ सकता है।
  • शराब के सेवन से बचें। इसके सेवन से टेस्टास्टरोन हॉर्मोन्स की सेहत में गिरावट आ जाती है जिसका संबंध सीधा यौन क्षमता से भी है।
  • व्यायाम या कसरम करें लेकिन अधिक नहीं।
  • गर्म पानी से नहाने में परहेज़ करें क्योंकि गर्म पानी से नहाते वक़्त आपके अंडकोष का तापमान बाधित होता और इससे स्पर्म काउंट पर सीधा असर पड़ने लगता है।
  • एक अध्ययन के मुताबिक जो व्यक्ति बहुत कम नींद लेते हैं उनकी प्रजनन क्षमता में कमी देखी गई है। प्रजनन क्षमता को दुरूस्त रखने के लिए अच्छी नींद बहुत आवश्यक है।
Avatar
admin

Leave a Comment

You must be logged in to post a comment.