• 22
  • May
  • 0
Author

रमजान के महीने में ऐसे रखें अपनी सेहत का ख्याल

रमजान का पवित्र महीना आ गया है। इस्लाम धर्म में इस महीने का बहुत महत्व है क्योंकि यह मुस्लिम लोगों के रोजे रखने का समय होता हैं और रोज़ा हर मुसलमान को फर्ज है। हर मुसलमान के लिए रोज़ा रखना किसी सबाब से कम नहीं। रोजे के दौरान गलत विचार और बुरे कामों से बचना होता है। रमजान का पाक महीना हर मुस्लिम के लिए बहुत खास होता है लेकिन कई बार रोजा रखना मुश्किल भी हो सकता है क्योंकि जैसा कि हम सभी जानते हैं कि इस बार के रमजान भीषण गर्मियों में आये हैं। ऐसे में हमें रमजान के पवित्र महीने में रोजे रखने के साथ-साथ अपनी सेहत का ख्याल रखना भी बहुत जरूरी होता है। अल्लाह की इबादत के लिए रमजान में बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक सभी रोजे रखते हैं। ऐसी परिस्थिति में यदि हम सेहत पर खाने पीने की चीज़ों पर ध्यान नहीं देंगे तो इससे हमारा इम्यून सिस्टम कमजोर पड़ जाता है जिस कारण कई तरह की बीमारियां होने का खतरा बना रहता है। ऐसे में आज हम आपको बताएंगे कि किन चीजों का सेवन आपको स्वस्थ रखने के साथ-साथ बीमारियों से भी बचाएगा।

ज्यादा भारी खाने से बचें : ऐसे बहुत से लोग हैं जो यह समझते हैं कि सेहरी या इफ्तार के समय कुछ ज्यादा भारी खा लेने से लंबे समय तक भूख नहीं लगेगी जबकि ऐसा कुछ नहीं है। बल्कि सेहरी में ज्यादा भारी खाना खा लेने से रोज़े की हालत में प्यास ज्यादा लगती है। साथ ही, अपचन के कारण खट्टी डकारें भी आ सकती हैं, जो रोज़े को मकरूह कर सकती हैं। इसलिये विशेषतौर से ध्यान दें कि सेहरी में हल्का खाना ही खायें। वैसे गर्मी के दिनों में लोगों को रोजे के वक्त भूख से ज्यादा प्यास की शिद्दत ज्यादा होती है।
तली चीज़़ों का सेवन न करें : सहरी या इफ्तार के वक्त तली हुई चीजों को खाने से बचें। दिनभर रोजे के चलते भूखा रहने के बाद आप तली हुई चीजें खाते हैं तो दिन भर प्यास लगने की समस्या बनी रहती है और यहां तक कि आपकी सेहत को नुकसान भी पहुँच सकता हैं। इसलिए सहरी के वक्त हरी पत्तेदार सब्जियां और सलाद ज्यादा खायें ताकि आपकी सेहत पर दिन भर के रोज़े का असर न हो।
प्रोटीन व फाइबर चीज़ों का सेवन करें : सहरी में प्रोटीन और फाइबर वाली चीजें ज्यादा लें। इनमें मल्टीग्रेन रोटी, छिलके समेत फल, अण्डे, पनीर, चिकन आदि खायें। प्रोटीन और फाइबर युक्त भोजन प्यास से बचाता है और लंबे समय तक पेट भी भरा रहता है। अगर हो सके तो उबली चीजें ही ज्यादा खाएं और कम मसालों में ही बना खाए।
हल्की चीजों से करें इफ्तार की शुरुआत : अगर आप बीमारियों से बचना चाहते हैं तो रोजा हमेशा खजूर से ही खोलना चाहिए। अगर खजूर न हो तो पानी से भी खोल सकते हैं। इससे स्वास्थ्य लाभ तो मिलता ही है साथ ही तली हुई चीज़ों के सेवन की वजह से एसिडीटी, उल्टी या पेट दर्द की संभावना भी नहीं रहती है। ध्यान रहे इफ्तार के तुरंत बाद खाना नहीं खाना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से सेहत को नुकसान पहुंच सकता है। इसलिए इफ्तार की शुरुआत बहुत ही हल्की चीजों से करें।
डिहाइड्रेशन से बचेंं : गर्मी में डिहाइड्रेशन की समस्या होना आम है। खासकर रमज़ानों में डिहाइड्रेशन का खतरा ज्यादा बना रहता है। ऐसे में इससे बचने के लिए आप ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं और तरबूज, सूखे अंजीर, अंगूर, नारियल पानी, खरबूजा, अनानस और आम आदि को अपनी डाइट में शामिल करें। क्योंकि इसमें जरूरी पोषक तत्वों के साथ मिनरल्स, विटामिन्स, मैग्नीशियम, कैल्शियम, सोडियम और पोटेशियम भी होती है, जो आपको डीहाइड्रेड होने से बचाएंगे और आपकी सेहत को भी बरकरार रखेंगे। रमजान के दौरान आपको कॉफी, चाय या कोल्ड ड्रिंक्स को अवॉइड करना चाहिए।
इफ्तार के वक्त ज्यादा पानी न पीयें : अक्सर ऐसा होता है कि बहुत से लोग इफ्तार के समय एक साथ तीन-चार ग्लास पानी एकदम से पी लेते हैं, जो सेहत के लिहाज से बिल्कुल भी सही नहीं है। इसलिए इफ्तार के वक्त कम पानी पिऐं बाद में थोड़ी-थोड़ी देर में पानी पीते रहें। उस वक्त ठंडे पानी का सेवन न करें तो बेहतर होगा।
पूरी नींद लें : हम सभी जानते हैं कि 8 घंटे की नींद मनुष्य के लिए कितनी जरूरी होती है। क्योंकि अगर आप पूरी नींद नहीं ले पा रहे हैं तो आपको स्वास्थ्य संबंधी कई बीमारियां हो सकती हैं। इसीलिए जिस वक्त आपको मौका मिलें अपनी नींद पूरी कर लें।
भारी कामों से बचें : रोज़े के दौरान हर व्यक्ति को ऐसे कामों से बचना चाहिए जिसको करने से थकान व प्यास लगने लगे। इसके लिए भागदौड़ वाले काम कम से कम करें और गर्मी से भी अपना बचाव करें।

Avatar
admin

Leave a Comment

You must be logged in to post a comment.