English
Urdu

medicine for multiple problems the sex

आज कल आमतौर पर देखा गया है की सेक्स प्राब्लम एक नॉर्मल बात हो गयी है। यौन समस्या होने पर आप अपने साथी से दूर हो जाते है। लेकिन यह इतनी बड़ी प्राब्लम नही है जिसका कोई उपचार नही हो।

एक तरफ जहा पति-पत्नी के संबंध में Sex का बहुत महत्व होता है वही सेक्स समस्याओ को भी इनसे अलग रखकर नही देखा जा सकता है। पुरुषो के समान महिलाओ की भी सेक्स इच्छा होती है। आइये जानते है सेक्स की कुछ समस्याओ और उनके समाधान के बारे में।

1. सेक्स में कमी

महिलाओ में Sex में कमी Depression , थकान या stress की वजह हो सकता है। इसके अलावा और भी वजह हो सकती है जैसे Partner  जिस तरह छूता है वो पसंद नही आना, पसीने की या मुह से आने वाली बदबू आदि। कई महिलाओ को शरीर के कुछ ख़ास हिस्सो पर हाथ लगाने से दर्द महसूस होता है या अच्छी नही लगता। इससे भी वो Sex  से बचने लगती है।

2. Lubrication की कमी

महिलाओ के जनन आंड में ल्यूब्रिकेशन (गीलापन) को उत्तेजना का पैमाना माना जाता है। कुछ महिलाओ को इसमे कमी की शिकायत होती है। ऐसे में सहवास काफ़ी तकलीफ़देह हो जाता है।

3. सहवास

कुछ महिलाओ को सहवास के दौरान दर्द होता है। कई बार यह दर्द बहुत ज़्यादा होता है और ऐसे में महिला सेक्स से बचने लगती है। साथी को इस दर्द का अहसास नही होता। उसे लगता है की साथी महिला और सहयोग नही दे रही है।

4. Orgasm ना होना या देर से होना

महिलाओ में यह शिकायत आम होती है उनका पार्ट्नर उन्हे संतुष्ट किए बिना ही छोड़ देता है। कुछ को Orgasm नही होता और कुछ को होता है, पर महसूस नही होता। कुछ महिलाओ को ल्यूब्रिकेशन के दौरान ही जल्दी Orgasm हो जाता है। कुछ को बहुत देर से Orgasm होता है।

समाधान

पति-पत्नी का सेक्स समस्याओ के बारे में बात करने से कतराना। पति और पत्नी दोनो में आपसी समझ इतनी होनी चाहिए की एक-दूसरे से कोई भी बात ना छुपाए। इतना ही नही इस मामले में पत्नी कभी पहल नही करती। ऐसे में husband  को चाहिए की उनका व्यवहार ऐसा हो की उनकी wife उनसे हर बात शेर कर सके।

यदि आप चाहते है की आप अपने जीवनसाथी से सभी समस्याओ ख़ासकर सेक्स समस्याओ के बारे में बातचीत कर सके तो आपको अपने साथी को विश्वास में लेना होगा। यदि आप अपने जीवनसाथी को अपनी कोई Sex  समस्या के बारे में बताना चाहते है तो आप उसे सीधे-सपाट शब्दो में ना कहे बल्कि उसके लिए थोड़ा समय ले और अपने साथी को बातचीत और Love  से सहज करे। इसके बाद सामान्य बातचीत के बाद ही अपनी समस्या बताए।