• 10
  • Jun
  • 0
Author

पेशाब रोकने से हो सकते हैं ये बड़े नुकसान,आप भी जान लीजिए

आपने अक्सर देखा होगा कि कई लोग काम की व्यस्तता के कारण पेशाब को रोकने की गलती कर बैठते हैं। लोग इसे हल्के में लेकर टाल देते है और दूसरे कामों में व्यस्त हो जाते हैं। जबकि ऐसा करना आपके स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है। क्योंकि यदि आप 10 मिनट से ज्यादा पेशाब रोके रखते हैं तो इससे आपके शरीर में कई तरह की बीमारियां जन्म लेने लगती है जिससे आपकी जान को भी खतरा हो सकता है। इसलिए, अगर आप भी पेशाब को रोकने की गलती करते हैं तो आपको संभलना होगा, अन्यथा आपको ही गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। यूरिनरी ब्लैडर शरीर का बहुत छोटा गोल अंग है। जिसकी दीवार इतनी लचीली होती है कि यह अपशिष्ट के साथ फैल जाती है। जिससे कई प्रकार की स्वास्थ्य समस्याएं खड़ी हो जाती हैं। तो आइए जानते हैं अधिक देर तक यूरीन को रोकने से क्या नुकसान हो सकता है और इससे आपके शरीर पर किस प्रकार का प्रभाव पड़ सकता है।

संक्रमण : यूरीन शरीर की सामान्य प्रक्रिया है, अगर आप 10 मिनट से ज्यादा देर तक पेशाब रोकने की गलती करते हैं तो इससे यूरिनरी ट्रेक्ट इंफेक्शन होने का खतरा भी बढ़ जाता है। जिस कारण दर्द और यूरिन के साथ खून आने की समस्या भी हो सकती है।
किडनी में पथरी : किडनी की समस्या से आज हर कोई परेशान हैं। हर वर्ग के लोगों को यह अपना शिकार बना रही है। वहीं दूसरी और अगर आप देर तक पेशाब को रोके रखते हैं तो भूलकर भी ऐसा न करें। क्योंकि ऐसा करने से किडनी में पथरी की समस्या उत्पन्न हो जाती है। खासकर कामकाजी युवाओं व महिलाओं में यूरीन संबंधी परेशानी आने लगती है। क्योंकि कामकाज के दौरान किडनी से यूरिनरी ब्लेडर में पेशाब इकट्ठा होता रहता है। हर एक मिनट में दो एमएल यूरीन ब्लेडर में पहुंचता है, जिसे प्रति एक से दो घंटे के बीच खाली कर देना चाहिए। ब्लेडर खाली करने में यदि 3-4 मिनट की भी देरी हो जाती है तो यूरीन दोबारा किडनी में वापस जाने लगता है, ऐसा कई बार होने की वजह से पथरी की समस्या उत्पन्न हो जाती है।
ब्लैडर में सूजन : जैसा कि बताया गया है कि अधिक समय तक यूरीन को रोके रखने से यूरीन ब्लैडर में इकट्ठी होती है। यूरीन में कई ऐसे तत्व होते हैं जो शरीर को काफी नुकसान पहुंचाते हैं। जिसकी वजह से आपके ब्लैडर की परत से रिएक्शन करते हैं जो यूरीन भंडार यानी ब्लैडर में सूजन और दर्द का कारण बनते हैं।
किडनी फेलियर : किडनी की समस्या आजकल एक आम बीमारी के रूप में उभरने लगी है। जिससे हर वर्ग के लोगों को अपना शिकार बना रही है। अगर आप किडनी की समस्या से बचना चाहते हैं तो यूरीन को रोकने की गलती न करें। यहां तक कि इससे किडनी के फेल होने के चांस बहुत ज्यादा रहते हैं। क्योंकि यूरीन से संबंधित हर तरह के इंफेक्शन किडनी पर बुरा असर डालते हैं।
ब्लैडर की मांशपेशियाँ हो जाती हैं कमजोर : रोज-रोज पेशाब रोकने की आदत आपको भारी पड़ सकती है। क्योंकि यूरीन के विषैले तत्व ब्लैडर की मांशपेशियों को नुकसान पहुँचाने में अहम् भूमिका अदा करते हैं जो आपके लिए बड़ी समस्या खड़ी कर सकते हैं। यहां तक कि पेशाब करते समय लिंग में दर्द की समस्या हो सकती है।
जहां यूरिन के माध्यम से इंसान के शरीर की तमाम तरह की अशुद्धियां बाहर निकल जाती हैं वहीं अगर यह थोड़े वक्त भी शरीर में रह जाए तो स्वास्थ्य समस्याऐं पैदा होने लगती हैं। इसलिए इन सभी बातों का ध्यान रखें और अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखें।

Avatar
admin

Leave a Comment

You must be logged in to post a comment.