• 12
  • Apr
  • 0
Author

जानिए कितना घातक है धूम्रपान आपके लिए

इस वैधानिक चेतावनी के बावजूद कि धूम्रपान सेवन स्वास्थ्य के लिए कितना हानिकारक है, इसके बाद भी पुरूष तो पुरूष महिलाएं भी धूम्रपान का आनन्द लेते पाये जाते है। इस लत के कारण 10 में से 1 मौत का यह कारण अवश्य होता हैं। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि रोजाना धूम्रपान करने वाले लोगों कि संख्या इस देश में एक अरब से भी ज्यादा है। क्या जरूरत है ऐसे शोक की जो भविष्य में गले की हड्डी बन जाये और हमारा जीवन बर्बाद कर दे। वैसे कहा जाये तो किसी भी प्रकार का नशा मानव स्वास्थ्य की दृष्टि से हानिकारक ही होता है और इससे कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी भी हो सकती हैं जी हाँ यह बिल्कुल सच हैं।

यहां कुछ कारण बताए गए हैं जो आपको बताएंगे कि धूम्रपान आपके स्वास्थ्य और सामान्य कल्याण को गंभीर रूप से नुकसान पहुंचा सकता है-

धूम्रपान करने वाले व्यक्तियों में हृदय संबंधी बीमारियों जैसे दिल का दौरा पड़ने का खतरा अधिक रहता है। ज्यादातर मामलों में हृदय की बीमारी से होने वाली लगभग 20 प्रतिशत मौत की वजह धूम्रपान की लत होता है। धूम्रपान हृदय में जमा निकोटिन रक्त वाहिकाओं को क्षति पहुंचाता है और कुछ भागों में उन्हें मोटा और संकरा बना देता है, जिससे रक्तचाप और अस्थिर रक्तचाप बढ़ जाता है जिस वजह से दिल का दौरा पड़ने की आशंका बढ़ जाती है।

धूम्रपान आपके रक्त वाहिकाओं को बांधते हैं रक्त वाहिकाओं की यह निरंतर संकुचन पुरुषों में सीधा होने की वजह बनती है तथा पुरुषों और महिलाओं दोनों में बांझपन की ओर धकेलती है। यहां तक कि कपल्स को यौन क्रिया के दौरान दिक्कत आने लगती हैं।

अध्ययनों के मुताबिक धूम्रपान न करने वालों के मुकाबले में धूम्रपान करने वाले लोगों में ज्यादातर पेट और आंत के कैंसर से ग्रसित हैं। क्योंकि धुम्रपान करने से पेट और आंत में क्रमशः जलन और सूजन पैदा होती है। जिस कारण पाचन तंत्र में अल्सर की समस्या हो सकती है।

धूम्रपान करने से त्वचा में झुर्रियां पड़ने लगती हैं व चेहरे की रंगत खत्म हो जाती है जिससे समय से पहले इंसान वृद्ध दिखने लगता है। अत्

यधिक धूम्रपान लत के कारण, इंसान का शरीर त्वचा को ऑक्सीजन की आपूर्ति बंद कर देता है जिस कारण त्वचा नीरस और बेजान हो जाती है।

खासकर गर्भधारण करने वाली महिलाऐं जो धूम्रपान के संपर्क में आती हैं तो इससे भ्रूण का कम विकास होता है या प्रतिकूल प्रभाव भी पड़ सकता है। जैसे- गर्भस्राव, समय से पहले प्रसव या मृत बच्चा पैदा होना, बच्चे का वजन कम या ज्यादा होना। इसके अतिरिक्त धूम्रपान से बच्चे के स्वास्थ्य पर भी काफी प्रभाव पड़ता है जिससे मधुमेह, अस्थमा, उच्च रक्तचाप या हर्ट स्ट्रोक जैसी घातक बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है।

रिसर्च द्वारा धूम्रपान रक्त परिसंचरण को भी प्रभावित करता है। धूम्रपान के दौरान विषाक्त पदार्थ रक्त में प्रवेश कर जाते हैं और रक्त कोशिकाओं को हानि पहुंचाते हैं। यह ब्लड कैंसर की वजह भी हो सकता है। इसमें खून मोटा होने लगता है और खून के थक्के बनने की संभावना बढ़ जाती है और बाद में धमनियां संकीर्ण हो जाती हैं, जिसके तहत शरीर के हृदय, मस्तिष्क और अन्य अंगों में अपर्याप्त ऑक्सीजन की आपूर्ति होने लगती है।

नियमित रूप से धूम्रपान करने वालें लोगों में मुंह का कैंसर होना सामान्य बात है। सांसों की दुर्गन्ध, दांतो में कैविटी या दांतों का रंग खराब होने जैसी समस्याओं से लेकर मसूढ़े की बीमारी, लार ग्रंथी में सूजन, दांतो का संक्रमण और दांत दर्द की वजह से दांत निकलवाने की नौबत तक आ सकती है।

अपना जीवन और समय व्यर्थ के कामों में न गंवाऐं। किसी भी लत की आदत डालनी है तो पढ़न-लिखनेे, खाने, खेलने और अच्छा बनने की डालें। इससे आपका, आपके परिवार का समाज का और देश का भी कल्याण होगा।

Avatar
admin

Leave a Comment

You must be logged in to post a comment.